BJP काफिले पर बरसे पत्थर, राजनितिक घमासान ने लिया हिं!सक रूप

पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राजनीतिक लड़ाई हिं!सक रूप लेती जा रही है। सोमवार को पूर्वी मिदनापुर में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष के काफिले पर हम!ला हुआ। इस हमले में दिलीप घोष सहित सात लोग घा!यल हुए।

भाजपा ने इस हमले के लिए टीएमसी को जिम्मेदार ठहराया है।  इस हमले के लिए भाजपा ने टीएमसी पर आरोप लगाया है। समाचार एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक यह हमला पूर्वी मिदनापुर में कोनटई बस स्टैंड के पास जंगलमहल समिति के हॉल के बाहर हुआ। दिलीप घोष का कहना है कि इस हमले की पीछे टीएमसी है।

हमले के बाद घोष ने कहा, ‘टीएमसी लोकतांत्रिक रूप से हमें रोक पाने में असफल हो रही है। हमें रोकने और डराने के लिए वह अब गुं!डों और पुलिस का सहारा ले रही है।’ उन्होंने कहा कि इस हमले में भाजपा के सात कार्यकर्ता भी घाय!ल हुए हैं।

दूसरी ओर, टीएमसी जिलाध्यक्ष शिशिर अधिकारी ने आरोपों को गलत बताते हुए कहा कि इस घटना में उनकी पार्टी का कोई कार्यकर्ता शामिल नहीं है।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष घोष पूर्वी मिदनापुर में संगठन की एक बैठक में हिस्सा लेने जा रहे थे। इस दौरान बदमाशों ने घोष के काफिले पर हम!ला किया और उनके वाहन को क्षतिग्र!स्त किया। हमले के बाद घोष को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया। बता दें कि पश्चिम बंगाल में अक्सर राजनीतिक हिंसा की खबरें आती रहती हैं। राज्य के स्थानीय एवं पंचायत चुनावों के दौरान भी काफी मात्रा में हिं!सा हुई।

गौरतलब है कि इससे पहले 05 अक्टूबर, 2017 को उत्तर बंगाल के दार्जिलिंग में और 09 अगस्त को बांकुड़ा जिले के खातड़ा में दिलीप घोष पर हम!ला हो चुका है। दोनों ही घटनाओं में उनके काफिले पर हमला हुआ। हालांकि इसमें उन्हें ज्यादा चोट नहीं आई थी।

BJP के प्रदेशाध्यक्ष दिलीप घोष के काफिले पर हमला हुआ

पश्चिम बंगाल के पूर्वी मिदनापुर जिले में भारतीय जनता पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष दिलीप घोष के काफिले पर हमला हुआ। इस हमले घोष सहित भाजपा के सात कार्यकर्ता घायल हुए। #UserGeneratedContent | Manogya Loiwal

Posted by Aaj Tak on Monday, September 17, 2018