लोकसभा चुनाव के दौरान शशि थरूर के इस बयान ने बढाई मु!श्किले, जारी हुआ गि!रफ़्तारी वारंट

कांग्रेस सांसद शशि थरूर (Shashi Tharoor) के खिलाफ कोलकाता की एक मजिस्ट्रेट मेट्रोपोलिटन कोर्ट ने गि!रफ्तारी वा!रंट जारी किया है। लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) के दौरान शशि थरूर के ‘हि!न्दू पाकिस्तान’ वाले बयान के चलते यह वा!रंट जारी किया गया है। कोलकाता मजिस्ट्रेट मेट्रोपॉलिटन कोर्ट ने एडवोकेट सुमित चौधरी की याचिक पर सुनवाई करते हुए यह वा!रंट जारी किया।

11 जुलाई 2018 को तिरूवनंतपुरम (Thiruvananthapuram) में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए थरूर ने कहा था कि अगर 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी (BJP) जीतती है तो वह भारत को ‘हि!न्दू पाकि!स्तान’ बनाने जैसे हा!लात पै!दा कर देगी।

थरूर ने कहा था कि बीजेपी एक नया संविधान लिखेगी जो कि भारत को पाकिस्तान जैसे देश में ब!दलने का रास्ता साफ करेगा, जहां अल्प!संख्यकों के अधिकारों का ह!नन किया जाएगा, उनका कोई स!म्मान नहीं होगा।

थरूर ने आगे कहा था कि बीजेपी का लिखा नया संविधान हिन्दू राष्ट्र के सिद्धांतों पर आधारित होगा जो अल्पसंख्यकों के समानता के अधिकार को ख!त्म कर देगा और देश को हिन्दू पाकिस्तान बना देगा। महात्मा गांधी, नेहरू, सरदार पटेल, मौलाना आजाद और स्वतंत्रता संग्राम के महान सेनानियों ने ऐसे मुल्क के लिए ल!ड़ाई नहीं ल!ड़ी थी।

थरूर के इस बायन पर बीजेपी ने तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से माफी की मांग की थी। बीजेपी ने कांग्रेस पर देश के हिन्दुओं को बदना!म करने का आ!रोप लगाया था।