भाजपा सांसद साक्षी महाराज ने दिया विवा!दित बयान, कहा: ‘दिल्ली की जामा मस्जिद तोड़ो…’

अयोध्‍या में राम मंदिर के निर्माण को लेकर तेज हुई राजनीतिक सरगर्मियां के बीच बीजेपी के सांसद ने विवा!दित बयान दे डाला है। उत्‍तर प्रदेश के उन्‍नाव से सांसद साक्षी महाराज ने शुक्रवार (23 नवंबर) को दिल्‍ली स्थित जामा मस्जिद को तो!ड़ने की वकालत कर डाली।

उन्‍होंने एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि आप जामा मस्जिद तो!ड़िए और यदि मस्जिद की सीढ़ियों के नीचे मूर्तियां न मिलें तो मुझे फां!सी पर ल;टका दीजिए। साक्षी महाराज ने कहा, ‘मैं राजनीति में जब आया तो मेरा पहला बयान मथुरा में था। मैंने उस वक्‍त कहा था कि ‘अयोध्‍या, मथुरा छोड़ो…दिल्‍ली की जामा मस्जिद तो!ड़ो।

अगर सीढ़ि‍यों में मूर्तियां न मिले तो मुझे फां!सी पर ल;टका देना।’ मैं आज भी अपने उस बयान पर कायम हूं।’ बीजेपी सांसद ने दावा किया कि मुगलों ने हिन्‍दुओं की भावनाओं के साथ खिलवा!ड़ किया। मुगल शासकों ने 3000 से ज्‍यादा मस्जिदों का निर्माण मंदिरों को तो!ड़ कर कराया था।

‘उम्‍मीद है राम मंदिर पर लोकसभा चुनाव से पहले आएगा कानून’:

बीजेपी सांसद साक्षी महाराज का यह बयान ऐसे समय सामने आया है जब अयोध्‍या में राम मंदिर को लेकर रा!जनीति गरमा!ई हुई है। हिन्‍दुवा!दी संगठनों के प्रदर्शन को देखते हुए अयोध्‍या में व्‍या!पक पैमाने पर पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। विश्‍व हिन्‍दू परिषद ने मंदिर आं!दोलन को एक बार फिर से तेज कर दिया है।

वहीं, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे भी अयो!ध्‍या पहुंच रहे हैं। अयोध्‍या में राम मंदिर बनाने के मसले पर भी साक्षी महाराज ने बी!जेपी का रुख स्‍पष्‍ट किया। उन्‍होंने कहा, ‘बीजेपी अयोध्‍या में राम मंदिर निर्माण को लेकर पूरी तरह स्‍पष्‍ट है। कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी, बसपा अध्‍यक्ष मायावती और सपा प्रमुख अखिलेश यादव इस मसले पर अपना रुख स्‍पष्‍ट करें।’

साक्षी महाराज ने बताया कि उन्‍हें उम्‍मीद है कि मोदी सरकार वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले सोमनाथ मंदिर की तरह ही अयोध्‍या में राम मंदिर बनाने के लिए कानून लाएगी। बता दें कि अयोध्‍या में राम मंदिर बनाने का मुद्दा फिलहाल सुप्रीम कोर्ट में लंबित है। कांग्रेस समेत प्राय: सभी विपक्षी दल सर्वोच्‍च अदालत के फैसले को मानने की बात कह रहे हैं।