रामदेव ने पहले कहा कहा: ‘मंदिर बनाने का यह सही समय’, अब दिया ये बड़ा बयान

योग गुरु बाबा रामदेव ने भगवान राम के मंदिर को राजनीतिक मुद्दा ना बनाने की बात कही है योग गुरु उत्तराखंड में चल रहे नगर निकाय चुनाव में हरिद्वार के कनखल में सती कुंड स्थित महिला महाविद्यालय मतदान केंद्र पर मतदान करने पहुंचे थे उन्होंने मतदान के बाद लोगों से अपील करते कहा कि मंदिर को मुद्दा न बनाते हुए बढ़-चढ़ कर वोट करें

बाबा रामदेव ने कहा कि वह न तो किसी के पक्ष में हैं और न ही किसी के विपक्ष में हैं वह राजनीतिक रूप से बिल्कुल निष्पक्ष हैं बाबा रामदेव ने कहा कि भगवान राम का मंदिर फिलहाल सुप्रीम कोर्ट के माध्यम से बनता नजर नहीं आ रहा है ऐसे में भले ही संत कितना भी संघर्ष कर लें बिना संसद के मंदिर बनना असंभव है

उन्होंने कहा कि अगर न्यायालय और संसद के बगैर मंदिर बना तो देश में सामाजिक संघर्ष भी हो सकता है, लिहाजा संसद ही मंदिर बनाने के लिए प्रभावी कदम उठाए बाबा रामदेव ने कहा कि 2019 में देश में लोकतांत्रिक घटना होगी योग गुरु रामदेव के साथ पतंजलि योगपीठ के महामंत्री आचार्य बालकृष्ण ने भी वोट किया

योग गुरु का यह बयान उनके कुछ दिनों पहले के बयान के बिल्कल विपरीत है, जब उन्होंने कहा था कि अगर राम मंदिर का निर्माण नहीं होता है तो सांप्रदायिक माहौल गर्म होगा और आपसी भेदभाव भी बढ़ेंगे

उन्होंने कहा था, “अगर राम मंदिर नहीं बना तो देश में सां!प्रदायिक माहौल गरमाएगा, सां!प्रदायिक और आपसी भेदभाव बढ़ेगा रामदेव ने कहा, ”मंदिर के लिए समझौते का दौर निकल चुका है” उन्होंने कहा, ”संसद मे कानून लाओ और मंदिर बनाओ अभी नहीं तो कभी नहीं की तर्ज पर काम करना होगा” इस दौरान उन्होंने कहा, ”यहां सभी सुरक्षित हैं