पालघर घटना को सांप्रदायिक रंग देने वालों को सीएम ठाकरे की चेतावनी

loading...

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि पालघर में तीन लोगों की हत्या करने वाले आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि उन्होंने गृह मंत्री अमित शाह से बात की है और उन्हें आश्वासन दिया है कि वह इस मामले को देखेंगे.

बता दें कि देश की आर्थिक राजधानी मुंबई से मुश्किल से 125 किलोमीटर दूर एक स्थान पर गुरुवार रात हुए भयानक हमले के बाद 100 से अधिक लोगों को हिरासत में ले लिया गया है.

loading...

मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्रामीणों ने क्षेत्र में चोरों की उपस्थिति के बारे में अफवाहें सुनीं थी और सोचा कि वे अपराधी हैं. उन्होंने कहा कि ‘इसे सांप्रदायिक न बनाएं. इस मामले में कोई सांप्रदायिक एंगल नहीं है.’

इस बीच उद्धव ठाकरे ने गृह मंत्री अमित शाह से अनुरोध किया कि वे उन लोगों के खिलाफ कार्रवाई करें जो पालघर जिले में भीड़ द्वारा तीन लोगों की पीट-पीटकर हत्या किये जाने के मामले को सांप्रदायिक रंग दे रहे हैं. प्रदेश सरकार ने 16 अप्रैल को हुई इस वारदात में पहले ही उच्च स्तरीय जांच के आदेश दे दिए हैं.

बता दें कि जिन तीन लोगों की हत्या की गई उनमें से एक कार का ड्राइवर था और दो साधु थे. तीनों मृतक मुंबई के कांदिवली से सूरत अपने एक मित्र के अंतिम संस्कार में हिस्सा लेने जा रहे थे.इसमें 35 साल के सुशीलगिरी महाराज और 70 साल के चिकणे महाराज कल्पवृक्षगिरी थे. जबकि 30 साल का निलेश तेलगड़े ड्राइवर था.

ठाकरे ने एक वीडियो संदेश में कहा कि सोमवार को उन्हें अमित शाह का फोन आया था और उन्होंने खुद मामले में किसी तरह के सांप्रदायिक पहलू के नहीं होने की बात कही थी. ठाकरे ने कहा, ‘मैंने उनसे उन लोगों पर कार्रवाई करने के लिये अनुरोध किया जो पालघर भीड़ हत्या मामले को सांप्रदायिक रंग दे रहे हैं, जो तथ्यात्मक रूप से गलत है.

मैंने उन्हें यह भी बताया कि मेरी सरकार निश्चित रूप से षड्यंत्रकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने जा रही है.’ मुख्यमंत्री ने पहले कहा था कि तीन लोगों की भीड़ द्वारा हत्या के मामले में शामिल लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

loading...