बीआरडी ऑक्‍सीजन मामले में डॉ. कफील खान को सुप्रीमकोर्ट ने दी बड़ी राहत, सरकार को मिले ये आदेश

बीआरडी ऑ!क्‍सीजन कां!ड में फंसे निलंबित चिकित्‍सक डॉक्टर कफील खान को सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत मिली है। उन्‍हें निलं`बन की अवधि के देय और भत्‍ते के भुगतान के साथ विभागीय जांच को सात जून तक समाप्‍त करने के आदेश दिए गए हैं।

माना जा रहा है कि विभागीय जांच खत्‍म होने के बाद जल्‍द ही डॉक्टर कफील की बहाली हो सकती है। 10-11 अगस्‍त 2017 की रात बीआरडी मेडिकल कालेज में ऑ!क्‍सीजन की कमी के कारण 36 मा!सूमों की मौ!त हो गई थी। डॉक्टर कफील खान के भाई अदील खान ने बताया कि सुप्रीम कोर्ट की डबल बेंच जस्टिस इंदिरा बनर्जी और जस्टिस संजय किशन कौल ने ये फैसला सुनाया।

डॉक्टर कफील की ओर से SC की वरिष्‍ठ अधिव‍क्‍ता मिनाक्षी अरोड़ा और फुजैल अयूबी एडवाकेट ऑन रिकड ने डॉक्टर कफील की ओर से याचिका दायर की थी। डॉक्टर कफील खान को 10 अगस्त को बीआरडी मेडिकल कालेज में हुए आक्सी!जन कां!ड में ला!परवाही बर`तने का आ!रोप लगाते हुए दो सितम्बर 2017 को सस्पें`ड कर दिया गया था।

इसके पहले उनके ऊपर केस दर्ज किया गया था। वह 2 सितम्बर को गिरफ्ता!र हुए। आठ महीने से अधिक समय तक जेल में रहने के बाद 25 अप्रैल 2018 को उन्हें इलाहाबाद हाईकोर्ट से जमानत मिली और वह 28 अप्रैल की रा!त जे`ल से रिहा हुए।

जमा!नत पर छूटने के बाद उन्होंने अपने खिला!फ चल रही विभा!गीय का!र्यवाही को जल्द पूर्ण करने के लिए कई बार मांग पत्र दिया। उन्होंने इला!हाबाद हा!ईकोर्ट में याचिका दायर की, जिस पर हाईकोर्ट ने सात मार्च 2019 को आदेश दिया कि डॉक्टर कफी!ल के खिला!फ चल रही जांच तीन महीने के अंदर पूरा किया जाए।

तीन महीने की ये अवधि सात जून को पूरी हो रही है। अभी तक उनके खिला!फ विभागीय जांच पूरी होने के बारे में कोई खबर नहीं है। इसी बीच उन्होंने इस मा!मले में सुप्री!म कोर्ट में भी याचिका दायर की। डॉक्टर कफील के भाई अदील खान ने बताया कि सुप्रीम कोर्ट का आदेश है कि कर्मचारियों के निलम्बन मामले में जांच की का!र्रवाई तीन महीने में पूरी कर ली जानी चाहिए।

डॉक्टर कफील का कहना है कि 18 महीने से अधिक समय हो गया। लेकिन, अभी तक उनके खिला!फ चल रही विभा!गीय का!र्यवाई पूरी नहीं हुई है। इस कारण उन्हें जीवन निर्वा!ह में दिक्कत हो रही है। उन्हें वेतन की आधा रकम मिल रही है। वे प्राइवेट प्रैक्टिस भी नहीं कर पा रहे हैं।

बीआरडी मेडिकल कालेज में एक ही रात में ऑ!क्‍सीजन की कमी के कारण 36 बच्‍चों की मौ!त के बाद हंगा!मा मच गया था। ये घटना पूरे देश में सु`र्खियां बनी। इसमें यूपी की योगी सरकार की खूब कि`रकि`री भी हुई। इस मा!मले में हालांकि नौ लोगों को एक-एक करके जे`ल भी भेजा गया। इस कां!ड के बाद गोरखपुर समेत पूरे देश में हंगा!मा मच गया। विपक्षी पार्टियों को भी यो!गी सरकार पर निशा!ना साधने का मौका मिल गया।

उसके बाद इस मामले में 100 वार्ड के प्रभारी रहे बीआरडी मेडिकल कालेज के चिकित्‍सक बाल रोग विशेषज्ञ डॉ!क्टर कफील खान को भी दो!षी मानते हुए प्रदेश सरकार ने मुकदमा दर्ज कराया। उन्‍हें 23 अगस्‍त 2017 से वर्तमान निलंबन तक के बका!या भुगतान का आदेश दिया गया है। ये भुगतान राज्‍य सरकार को 7 जून के भीतर कर देना होगा।