कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आज़ाद ने मोदी सरकार पर लगाए ये आरो!प

loading...

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने मोदी सरकार पर कश्मीर को राजनीतिक और आर्थिक रूप से ब!र्बाद करने का आ!रोप लगाया। हरियाणा के चुनाव मु!द्दों पर कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद गुलाम नबी आजाद ने कहा कि कश्मीर में राजनीतिक नेतृत्व पिछले तीन हफ्ते से नजरबं!द है। फल उत्पादक अपनी फसल को लेकर चिं!तित हैं। पर्यटक नहीं जा रहे हैं। सरकार ने सब कुछ ब!र्बाद कर दियाा है।

जम्मू-कश्मीर में मौजूदा स्थिति को लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने शनिवार को नरेंद्र मोदी सरकार को घे!रा। उन्होंने कहा, एक तरफ सरकार कहती है कि सब कुछ सामान्य है और दूसरी ओर वे हमें वहां जाने नहीं दे रही। ऐसी पसोपेश हमने पहले कभी नहीं देखी। अगर हाला!त सामान्य हैं तो कई नेता नजरबं!द क्यों हैं।

loading...

शनिवार को आठ विपक्षी पार्टियों के 11 सदस्य श्रीनगर पहुंचे हैं, जिनकी अगुआई पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी कर रहे हैं। उनके अलावा डी राजा, शरद यादव, माजिद मेनन, मनोज झा भी विमान में मौजूद हैं।

जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने इन नेताओं को आने से मना किया है और एयरपोर्ट से बाहर नहीं नि!कलने दिया है। उनका कहना है कि इन नेताओं के आने से घाटी का मा!हौल ख!राब हो सकता है। इससे पहले एनसीपी के नेता माजिद मेनन ने कहा है कि हमारा उद्देश्य ग!ड़बड़ी करना नहीं है। हम सरकार के विरो!ध में नहीं जा रहे हैं, हम सरकार के समर्थन में जा रहे हैं, ताकि हम भी सुझाव दें कि क्या किया जाना चाहिए।

दरअसल, जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 को रद्द! किए जाने के बाद से ही राहुल गांधी मोदी सरकार पर हमला!वर हैं और राज्य की स्थिति को लेकर चिं!ता जाहिर कर रहे हैं। उनकी इसी चिं!ता और ते!वर को देखते हुए जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने राहुल गांधी को कश्मीर आने का न्योता दिया था।

मलिक ने हेलिकॉप्टर भेजकर उन्हें कश्मीर आने को कहा था। हालांकि बाद में प्रशासन ने उन्हें आने से म!ना कर दिया। ट्वीट करते हुए प्रशासन ने कहा, नेताओं के आने से असुविधा होगी। वह उन प्रतिबं!धों का भी उल्लं!घन करेंगे, जो अभी कई क्षेत्रों में ला!गू है। नेताओं को यह समझना चाहिए कि नु!कसान को रो!कने और कानू!न-व्यवस्था को बनाए रखने की प्राथमिकता सर्वोच्च होगी।

loading...