कर्नाटक समेत इन राज्यों में कांग्रेस पर भा!री सं!कट, टू!ट सकती है पार्टी की सरकार

पार्टी के तौर पर कांग्रेस शायद इस वक़्त अपने सबसे बु!रे दौर से गु!ज़र रही है। लोकसभा में हार के बाद अध्यक्ष पद का सं!कट और अब तीन राज्यों में कांग्रेस बि!खरती हुई नज़र आ रही है। कर्नाटक में कांग्रेस-और जेडीएस की सरकार 18 विधायकों के इस्ती!फ़े के बाद भा!री सं!कट में है। जाहिर है इसमें से अधिकतर विधायक बीजेपी के संपर्क में हैं।

गोवा में कांग्रेस के 15 विधायकों में से 10 पार्टी से अलग हो कर बीजेपी के खे!मे में आ चुके हैं। हांलाकि वहां सरकार बीजेपी की है। तीसरा सं!कट तेलंगना का है, जहां पहले कांग्रेस के 18 में से 12 एमएलए जून में पार्टी छो!ड़ चुके हैं।

बता दें, कर्नाटक में पहले से ही कु!आं और खाई के बी!च झू!ल रही जद(एस) कांग्रेस सरकार को और दो विधायकों के इस्तीफे से बुधवार को बड़ा झ!टका ल!गा है। वहीं दूसरी ओर मुंबई में हा!ई-वो!ल्टेज ड्रा!मा जारी है जहां मंत्री डी। के। शिवकुमार को बा!गी विधायकों को मनाने के प्रयास में होटल पहुंचने पर हि!रासत में लिया गया है। साथ ही इस नाटक का एक हिस्सा राजधानी दिल्ली में उच्चतम न्यायालय में भी चल रहा है।

एच। डी। कुमारस्वामी सरकार में आवास मंत्री एम। टी। बी। नागराज और के। सुधाकर ने बुधवार को अपना इस्तीफा विधानसभा अध्यक्ष रमेश कुमार को सौंपा। दोनों कांग्रेस के विधायक हैं। राज्य में ग!हराते राजनीतिक संकट के बीच कांग्रेस और जद(एस) के 10 बा!गी विधायक शीर्ष अदालत पहुंच गए हैं और याचिका दायर कर आ!रोप लगाया है कि विधानसभा अध्यक्ष जा!नबूझक!र उनका इस्तीफा स्वीकार नहीं कर रहे हैं और कुमारस्वामी सरकार को सं!भलने का वक्त दे रहे हैं।ॉ

बुधवार को हुए और दो इस्तीफों के साथ ही कर्नाटक में अभी तक कांग्रेस के 13 और जद(एस) के तीन विधायक इस्तीफा दे चुके हैं जबकि दो निर्दलीय विधायक एच। नागेश और आर। शंकर ने समर्थन वापस ले लिया है।

गठबंधन सरकार के पास अध्यक्ष के अलावा फि!लहाल 116 विधायक हैं। इनमें कांग्रेस के 78, जनता दल (एस) के 37 और बसपा का एक विधायक है। मंत्रिमंडल से सोमवार को दो निर्दलीय विधायकों के इस्तीफे के साथ ही 224 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा के पास कुल 107 विधायक हो चुके हैं। अगर सभी 16 विधायकों का इस्तीफा स्वीकार हो जाता है तो गठबंधन के पास सदस्यों की सं!ख्या घ!टकर 100 रह जाएगी।

कर्नाटक सरकार में मंत्री शिवकुमार सुबह से ही मुंबई के होटल के बाहर डे!रा डा!ले हुए थे। वह किसी भी सूरत में बागी विधायकों से मिलना चाहते थे।

ऐसी सूचना मिली है कि अधिकारियों ने शिवकुमार को बताया कि बा!गी विधायकों ने मुंबई पुलिस आयुक्त को पत्र लिखा है कि उन्हें मंत्री के आने पर जा!न का ख!तरा है। अधिकारी ने बताया कि मुंबई पुलिस ने रेनेसां होटल के पास निषेधाज्ञा ल!गा दी है। कर्नाटक के बा!गी विधायक यहीं ठ!हरे हुए हैं।