अर्नब गोस्वामी के घटिया बयान से मचा बवाल, अशोक गहलोत ने की कार्रवाई की मांग

loading...

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी पर रिपब्लिक टीवी के एडिटर अर्णब गोस्वामी की एक टिप्पणी से हंगामा मच गया है. महाराष्ट्र के पालघर में दो साधुओं समेत तीन लोगों की मॉब लिंचिंग के मुद्दे पर एक डिबेट के दौरान अर्णब ने यह टिप्पणी की थी. अर्णब इस दौरान इस घटना को लेकर सोनिया गांधी कथित चुप्पी पर सवाल उठा रहे थे.

राजस्थान के मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अशोक गहलोत ने ट्विटर पर लिखा, ‘अर्नब गोस्वामी द्वारा सोनिया गांधी पर हमला बेहद निंदनीय है। गहलोत ने अर्णब की आलोचना करते हुए लिखा कि, वह सभी सीमाओं को पार कर गए हैं।’

loading...

गहलोत ने लिखा, ‘मैं एडिटर्स गिल्ड से पूछता हूं कि क्या पत्रकारिता के लिए यह सबसे बुरा दौर है? श्री राजीव चंद्रशेखर को उन्हें तत्काल बर्खास्त करना चाहिए।.

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अर्णब गोस्वामी की टिप्पणी पर कहा, ‘यह तो सांप्रदायिक हिंसा भड़काने का कुत्सित प्रयास है। न भाषा की मर्यादा न किसी की मान मर्यादा का ध्यान। यह तो अपराध है। संज्ञेय और दंडनीय अपराध.’

कांग्रेस के प्रवक्ता पवन खेड़ा ने लिखा, इसमें कोई शक नहीं कि अर्णब गोस्वामी को तुरंत इलाज की जरुरत है. वह ठीक नहीं है.

कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा, यह बहुत शर्मनाक है कि पीएम और बीजेपी टीवी एंकरों के इस ब्रांड की सराहना करते हैं।

अल्का लांबा ने लिखा, ‘अगर ArnabGoswami को साम्प्रदायिक हिंसा भड़काने और काँग्रेस अध्यक्षा श्रीमती सोनिया गांधी जी को लेकर की गई टिप्पणी पर गिरफ्तार नहीं किया जाता, तो भारतीय युवा काँग्रेस के कार्यकर्ताओं को बिना सोचे सड़कों पर उतर जाना चाहिए, वर्ना #करोना से पहले यह नफ़रत कर ज़हर देश को मार डालेगा’

कांग्रेस नेता, हसिबा अमीन ने लिखा, अर्णब जैसे लोगों ने मीडिया और पत्रकारिता को पूरी तरह बर्बात कर दिया है.

loading...