कर्नाटक के बाद अब इस राज्य में हि!ली कांग्रेस, एकसाथ इतने विधायक हुए भाजपाई

कर्नाटक में जहां कांग्रेस की गठबंधन सरकार पर सं!कट के बाद!ल छाए हुए हैं। वहीं गोवा में भी कांग्रेस को करा!रा झ!टका ल!गा है। दरअसल कांग्रेस के 10 विधायकों ने भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली है। बुधवार को घ!टे इस घ!टनाक्रम में विधानसभा में विपक्ष के नेता चंद्रकांत कावेलकर समेत कांग्रेस के 10 विधायकों ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया और भाजपा में शामिल हो गए।

इसके बाद विधानसभा में भाजपा विधायकों की सं!ख्या अब ब!ढ़कर 27 हो गई है, वहीं कांग्रेस, जिसके साल 2017 में 17 विधायक थे, अब उसके पास सिर्फ 5 विधायक ब!चे हैं। कांग्रेस के 2 विधायक पहले ही भाजपा का दा!मन थाम चुके हैं।

माना जा रहा है कि भाजपा सरकार अब राज्य में अपनी कैबिनेट में कुछ ब!दलाव कर सकती है। इस ब!दलाव के तहत भाजपा की सहयोगी पार्टियों की अब कैबिनेट से छु!ट्टी हो सकती है। मौजूदा कैबिनेट में 12 मंत्री पद में से 5 पर सहयोगी पार्टियों का क!ब्जा है।

विधानसभा स्पीकर ने भी कांग्रेस के बा!गी विधायकों का इस्तीफा स्वीकार कर लिया है। मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने विधानसभा में नए सदस्यों का स्वागत किया और बताया कि ‘इन लोगों ने राज्य और अपने विधानसभा क्षेत्रों के विकास के लिए हमारी पार्टी ज्वाइन की है। भाजपा की सदस्यता उन्होंने बिना कोई शर्त ग्रहण की है।’

कांग्रेस के जिन विधायकों ने भाजपा की सदस्यता ली है, उनमें चंद्रकांत कावलेकर, एंटोनियो मोन्सेराटे, जेनिफर मोन्सेराटे, फिलिप नेरी रोड्रिगेज, नीलकंठ हलारंकर , फ्रांसिस्को सिल्वेरा, क्लेफेसियो डायस, इसीडोर फर्नांडेज, विल्फ्रेड डिसूजा, टोनी फर्नांडेज का नाम शामिल है। खास बात ये है कि इन विधायकों पर द!ल-बद!ल का!नून के तहत भी कार्रवाई नहीं हो पाएगी, क्योंकि इन्होंने नियमों के मुताबिक दो तिहा!ई सदस्यों ने भा!जपा की सदस्यता ग्रहण की है।

भाजपा में शामिल होने वाले विधायकों का कहना है कि उन्होंने अपने विधानसभा क्षेत्र के विकास के लिए भाजपा में शामिल होने का फैसला किया है। एंटोनियो मोन्सेराटे का कहना है कि हमने कोई समझौ!ता नहीं किया है। हम सब दोस्त हैं। हम बैठे, चाय पी और बातचीत की। मोन्सेराटे ने कहा कि उन्हें कोई मंत्री पद नहीं चाहिए, उन्हें बस अपने विधानसभा क्षेत्र का विकास करना है।

वहीं कांग्रेस ने इसकी आलोचना की है। प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष गिरीश चोदांकर ने कहा कि इससे भाजपा की अपने सहयोगी पार्टियों के प्रति असुरक्षा ज!गजाहिर हो गई है। भाजपा ने आम जनता के ज!नादेश का अपमा!न किया है। बता दें कि अब राज्य में कांग्रेस के सिर्फ 5 विधायक रवि नाईक, लुजिन्हो फालेरियो, प्रताप सिंह राने, दिगंबर कामत और एलेक्स रेगीनाल्डो ही बचे हैं।