NDA में रह कर भी दू!र हुआ ये दिगज्ज, 4 राज्यों में बीजेपी के खि!लाफ ल!ड़ने का लिया फैसला

बिहार के मुख्यमंत्री और जनता दल (युनाइटेड) के अध्यक्ष नीतीश कुमार सहित जेडीयू और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के नेता भले ही सं!बंधों में किसी प्रकार की क!टुता से इं!कार कर रहे हों, लेकिन जेडीयू के बिहार के अलावा अन्य राज्यों में अपने द!म पर चुनाव ल!ड़ने और बीजेपी के कई मु!द्दों पर अलग राय रखने के बाद इन दो द!लों के संबंधों में ख!टास के क!यास लगने ल!गे हैं।

वैसे, नीतीश किसी भी गठबंधन में रहे हों, परंतु उनकी राजनीति अपने सिद्धांतों से समझौ!ता न!हीं करने की रही है। नीतीश की पार्टी जेडीयू जब आरजेडी के साथ महागठबंधन भी थी, तब भी नीतीश ने केन्द्र सरकार की नो!टबंदी की तारीफ की थी। तब भी महागठबंधन के साथ नीतीश के रि!श्ते को लेकर कयास ल!गाए जाने लगे थे, और आज फिर बीजेपी के साथ नीतीश के रि!श्तों को लेकर क!यासों का दौर ग!रम है।

बिहार की मुख्य विपक्षी पार्टी आरजेडी ने तो बजाप्ता नीतीश को महागठबंधन में आने का न्योता तक दे दिया है। आरजेडी उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी कहते हैं, “केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के जम्मू एवं कश्मीर में धारा-370 और 35-ए ह!टाने, राम मंदिर बनाने और सामान आचार सं!हिता लागू करने के मु!द्दे पर नीतीश कुमार क्या करेंगे?”

उन्होंने आगे कहा, “नीतीश कुमार को भगवान बीजेपी के खि!लाफ चेहरा बनने का एक और मौका दे रहा है और जब नीतीश कुमार इन मु!द्दों पर एनडीए छोड़ेंगे, तो आरजेडी उनके साथ मजबू!ती से ख!ड़ा होगा।”

इसके अलावा बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने भी कहा है कि अगर सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार महागठबंधन में आने की सोचते हैं, तो इससे उनको कोई ऐ!तराज नहीं होगा। गौरतलब है कि नीतीश कुमार की पार्टी एनडीए के साथ जरूर है, लेकिन उन्होंने केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल होने से इं!कार कर दिया है।

यही नहीं, जेडीयू महासचिव के. सी. त्यागी ने भी दो दिन पूर्व स्पष्ट कर दिया है कि जेडीयू चार रा!ज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव में अकेले मैदान में उ!तरेगा।

इस घोषणा के बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने नीतीश कुमार की प्रशंसा करते हुए इस निर्णय के लिए धन्यवाद भी दिया है। हालांकि जेडीयू के प्रवक्ता अजय आलोक ने स्पष्ट किया कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को खुशफहमी नहीं पा!लनी चाहिए।

उन्होंने कहा, “वह धन्यवाद देती हैं, ठीक है, परंतु जेडीयू एनडीए में है और आगे भी रहेगा। इसमें किसी को संशय नहीं रहना चाहिए।” आलोक ने कहा, “धन्यवाद से गल!तियां कम नहीं हो जातीं। वहां से बिहारियों को भ!गाया जा रहा है। लगातार ह!त्याओं का दौ!र भी चल रहा है।”